चिंता मनी-31 : क्रेडिट कार्ड से धन निकालना महंगा तो नहीं साबित होगा? - sach ki dunia, India's top news portal Get Latest News. Hindi Samachar

Breaking

चिंता मनी-31 : क्रेडिट कार्ड से धन निकालना महंगा तो नहीं साबित होगा?


सुरमीत कौर को क्रेडिट कार्ड से धन निकासी के लिए उच्च शुल्क तथा ब्याज देना पड़ा, जिसकी उन्होंने कल्पना भी नहीं की थी। वह जानना चाहती हैं कि उन्हें नकदी निकालने की ऐसी कीमत क्यों चुकानी पड़ी।

क्रेडिट कार्ड आपको ऑनलाइन किराना या किसी दुकान से कुछ खरीदने और ट्रेन के टिकट इत्यादि के भुगतान जैसी सुविधाएं देता है।
आपने जितना धन इस रूप में उधार लिया है, उसे यदि मुफ्त क्रेडिट अवधि, जो कि अमूमन एक हफ्ते से 45 दिन की होती है, में चुका दिया, तो आपको सिर्फ उतना ही धन देना होता है, जितना आपने क्रेडिट कार्ड से खर्च किया है। यदि आपने क्रेडिट कार्ड के बैलेंस का भुगतान नियत तिथि से पहले नहीं किया, तो आपको ब्याज देना होगा।
क्रेडिट कार्ड से लाभ
यदि आप समझदारी के साथ क्रेडिट कार्ड का इस्तेमाल करें, तो यह न केवल आपको एक सीमित अवधि तक मुफ्त में उधारी की सुविधा देता है, बल्कि यह आपको नकदी के प्रवाह को नियंत्रित रखने में भी मदद करता है। इस प्लास्टिक कार्ड की सुरक्षा तथा विशेष रूप से डिजिटल लेन-देन में इसके इस्तेमाल की सुविधा ने इसे भुगतान का पसंदीदा तथा मानक विकल्प बना दिया है। क्रेडिट कार्ड के इस्तेमाल का एक लाभ यह है कि आपकी क्रेडिट हिस्ट्री (उधार चुकाने की आपकी साख) भी बनती जाती है, जो कि तब मददगार होती है, जब आप बड़ा धन ऋण में लेना चाहते हैं, मसलन होम लोन।

इसके अलावा, क्रेडिट कार्ड में रिवार्ड (पुरस्कार) की सुविधा भी होती है, जोकि कैशबैक या रिवार्ड्स पाइंट के रूप में होता है। इसके अलावा को-ब्रांडेड कार्ड भी होते हैं, जो कुछ विशेष तरह की रियायत देते हैं। मसलन, किसी एयरलाइन या फ्यूल को-ब्रांडेड कार्ड हवाई यात्रा की टिकट या अपने वाहन में ईंधन भरवाने पर अतिरिक्त रिवार्ड्स पाइंट देते हैं। आप रिवार्ड पाइंट को क्रेडिट कार्ड का सक्रियता के साथ इस्तेमाल किए जाने पर बोनस मिलने जैसा मान सकते हैं। कुछ कार्ड रिवार्ड पाइंट के रूप में सालाना शुल्क माफ करते हैं, तो कुछ अन्य तरह की रियायत देते हैं।



कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें