चौथी बार सत्‍ता के लिए एमपी में भी भाजपा की अर्ध पन्‍ना प्रमुख की रणनीति - sach ki dunia

Breaking

Tuesday, May 22, 2018

चौथी बार सत्‍ता के लिए एमपी में भी भाजपा की अर्ध पन्‍ना प्रमुख की रणनीति

भोपाल। प्रदेश में चौथी बार सत्ता में वापसी की कवायद कर रही भाजपा कर्नाटक की तर्ज पर हाफ पेज प्रभारी बनाकर माइक्रो मैनेजमेंट करेगी। आमतौर पर मतदाता सूची के एक पन्ने में 60 या उससे ज्यादा मतदाता होते हैं। कर्नाटक में मतदाता सूची के एक पन्ने पर दो प्रभारी नियुक्त किए गए थे, लेकिन प्रदेश में एक पन्ने पर दो या ज्यादा कार्यकर्ताओं को तैनात किए जाने की योजना पर काम शुरू कर दिया गया है। ये कार्यकर्ता अपने हिस्से के दस परिवार यानी तीस मतदाताओं से घर-घर जाकर जीवंत संपर्क बनाए रखेगा, कोई दिक्कत होगी तो पार्टी पदाधिकारी या विधायक-मंत्री से मिलकर उनकी समस्याओं का समाधान कराएगा।
राजस्व मंत्री व भोपाल दक्षिण विस क्षेत्र के विधायक उमाशंकर गुप्ता कहते हैं कि भाजपा में पन्ना प्रभारी का प्रयोग सर्वप्रथम उनके क्षेत्र में वर्ष 2008 में शुरू किया गया था। तब राष्ट्रीय संगठन महामंत्री रामलाल ने इसकी सराहना की थी और इसे पूरे देश में लागू किया। गुप्ता कहते हैं कि अभी भी उनके यहां 30 मतदाता पर एक कार्यकर्ता तैनात है। वह नियमित रूप से सभी के संपर्क में रहता है और जरूरत पड़ने पर मदद भी करता है।
18 लाख से ज्यादा कार्यकर्ता संभालेंगे बूथ समितियां
पूरे प्रदेश में भाजपा ने कार्यकर्ताओं को 30-30 मतदाताओं की जिम्मेदारी दी है। आमतौर पर ग्रामीण इलाकों में एक बूथ पर 1200 और शहरी क्षेत्रों में 1400 मतदाता होते हैं। इनमें एक पन्ने में 60 से लेकर 90-100 तक मतदाता आते हैं। भाजपा ने हर बूथ पर 30 से ज्यादा कार्यकर्ता तैनात किए हैं। प्रदेश में 65 हजार 200 बूथ हैं। इस आधार पर भाजपा 18 लाख से ज्यादा कार्यकर्ताओं की टीम के साथ बूथ समितियां संभालेगी। पार्टी सूत्रों का कहना है कि प्रत्येक विधानसभा में 250 से ज्यादा बूथ हैं। इनमें 24 मई तक कार्यकर्ताओं की नियुक्ति कर ली जाएगी। भाजपा के प्रदेश संगठन महामंत्री सुहास भगत का कहना है कि संगठन स्तर पर तैयारियां चल रही हैं। जो इसी महीने पूरी कर ली जाएंगी।

No comments:

Post a Comment