अमेरिका ने पाकिस्तानी इंटरनेशनल एयरलाइंस की उड़ानों पर लगाया प्रतिबंध - sach ki dunia

Breaking

अमेरिका ने पाकिस्तानी इंटरनेशनल एयरलाइंस की उड़ानों पर लगाया प्रतिबंध

अमेरिका धीरे-धीरे अपने रंग में लौट रहा है. चीन से तनातनी के बीच अब कई दूसरे देशों पर उसने नकेल कसनी शुरू कर दी है. ताजा मामले में अमेरिका में पाकिस्तान इंटरनेशनल एयरलाइंस (PIA) के चार्टर प्लेन उड़ाने पर रोक लगा दी है. अमेरिका के ट्रांसपोर्टेशन विभाग ने कहा, पाकिस्तान के पायलटों के लाइसेंस और सर्टिफिकेट को लेकर फेडरल एविएशन एडमिनिस्ट्रेशन (एफडीए) ने चिंता जाहिर की थी. हमने पीआईए से अमेरिका में चार्टर प्लेन्स ऑपरेट करने की परमिशन वापस ले ली है. अमेरिका में पीआईए की चार्टर सेवाओं का परमिट अब रद्द कर दिया गया है. फिलहाल पीआईए की ओर से इस पर कोई टिप्पणी नहीं आई है.
पाकिस्तान ने पिछले महीने कहा था कि उसके लगभग एक तिहाई पायलटों ने फर्जी तरीके से लाइसेंस लिया है. इसके बाद, कई देशों ने पाकिस्तानी पायलटों के उड़ान भरने पर रोक लगा दी थी. वियतनाम के अलावा यूरोप और कई मुस्लिम देशों ने भी पाकिस्तानी पायलटों को बैन कर दिया था. यूरोपियन यूनियन एविएशन सेफ्टी एजेंसी ने PIA के ऑथराइजेशन को 6 महीने के लिए निलंबित कर दिया है.
कुवैत, ईरान, जॉर्डन और यूएई जैसे मुस्लिम देश पहले ही पीआईए और पाकिस्तानी पायलटों को बैन कर चुके हैं. इसके बाद वियतनाम, ब्रिटेन और मलेशिया ने भी यही फैसला किया. इसके साथ ही यूरोपीय यूनियन सेफ्टी एजेंसी (ईएएसए) ने अपने 32 मेंबर देशों से कहा है कि वो फौरन पाकिस्तान के पायलटों पर बैन लगाएं.
पाकिस्तान ने 34 पायलटों के लाइसेंस की जांच पूरी करने के बाद इन्हें बर्खास्त कर दिया है. इन सभी के लाइसेंस संदिग्ध पाए गए हैं. खबरों के मुताबिक, नौकरी से हटाए गए पायलटों में दो महिला पायलट भी शामिल हैं. एविएशन मिनिस्ट्री ने कहा- यह मामला सामने आने के बाद हमारी साख खतरे में है. पाकिस्तान की इस सरकारी एयरलाइन्स में कुल 850 पायलट हैं. इनमें से 262 के उड़ान भरने पर रोक लगाई जा चुकी है.
मालूम हो कि पाकिस्तान के पायलट्स जांच के घेरे में तब आए थे जब मई में PIA जेट क्रैश हो गया था. इस दुर्घटना में फ्लाइट में सवार 97 यात्रियों की मौत हो गई थी. 22 मई को कराची में पीआईए का प्लेन क्रैश हुआ. 25 जून को इसकी जांच रिपोर्ट संसद में पेश हुई थी.