कांग्रेस का रहा है दंगे कराने का इतिहास, राहुल देश से मांगें माफी: बीजेपी - sach ki dunia

Breaking

Wednesday, April 25, 2018

कांग्रेस का रहा है दंगे कराने का इतिहास, राहुल देश से मांगें माफी: बीजेपी

कांग्रेस के दामन पर मुसलमानों के ‘खून के धब्बे’ होने संबंधी कांग्रेस नेता सलमान खुर्शीद के बयान पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए भाजपा ने आज कहा कि खुर्शीद का बयान कांग्रेस के दंगे कराने और मुसलमानों को वोट बैंक के रूप में इस्तेमाल करने के इतिहास को लेकर पार्टी का कबूलनामा है.

भाजपा ने कहा कि आजादी के बाद से ही कांग्रेस की ‘बांटो और राज करो’ की नीति रही है और कांग्रेस पर यह ऐसा दाग है जो कभी नहीं धुलेगा. कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी को इसके लिये देश से माफी मांगनी चाहिए .

भाजपा के वरिष्ठ नेता एवं अल्पसंख्यक कार्य मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने कहा कि कांग्रेस का दंगा कराने का इतिहास रहा है और वोट पाने के लिये वह आज भी लोगों को बांटने और तनाव पैदा करने की राजनीति कर रही है. उन्होंने आरोप लगाया कि कांग्रेस ने हमेशा से धर्मनिरपेक्षता का मुखौटा लगाया और साम्प्रदायिकता फैलाने का ही काम किया.

नकवी ने कहा कि खुर्शीद के कबूलनामे के बाद अब लोग चाहते हैं कि कांग्रेस पार्टी सच्चाई को स्वीकार करे . केंद्रीय मंत्री ने इस मामले में 1984 के सिख विरोधी दंगों से लेकर देश के कई हिस्सों में हुए दंगों के लिये कांग्रेस को जिम्मेदार ठहराया.
 

भाजपा के वरिष्ठ प्रवक्ता सैयद शाहनवाज हुसैन ने कहा, ‘‘खुर्शीद का बयान कांग्रेस का कबूलनामा है. कांग्रेस ने आजादी के बाद से ही बांटो और राज करो की नीति को आगे बढ़ाया है.’’ उन्होंने कहा कि आजादी के बाद कांग्रेस के पास सबको साथ लेकर चलने का मौका था, लेकिन उसने देश को दंगों की आग में झोंकने का काम किया.

हुसैन ने कहा कि कांग्रेस ने अल्पसंख्यकों खासकर मुसलमानों को वोटबैंक के रूप में इस्तेमाल किया. विपक्षी पार्टी ने अल्पसंख्यकों से विकास के नाम पर नहीं बल्कि उन्हें डरा कर वोट लेने का काम किया.

भाजपा प्रवक्ता ने आरोप लगाया कि कांग्रेस पार्टी ने आजादी के बाद से देशभर में दंगे कराए और इसके बाद भी इस पार्टी की हिम्मत देखिये कि वह अपने धर्मनिरपेक्ष होने का दावा करती है. उन्होंने कहा कि सलमान खुर्शीद का बयान कांग्रेस का कबूलनामा है और उसपर लगे यह दाग कभी धुलने वाले नहीं है. ‘‘कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी को इसके लिये माफी मांगनी चाहिए.’’

बता दें कि कांग्रेस के वरिष्ठ नेता पूर्व विदेश मंत्री सलमान खुर्शीद ने अपने दामन पर ‘खून के धब्बे‘ होने की बात स्वीकार करते हुए परोक्ष रूप से लोकतंत्र के खतरे में होने की चेतावनी दी और कहा कि अपना हश्र ऐसा मत करो कि 10 साल बाद कोई सवाल पूछने वाला भी न मिले.

खुर्शीद ने कल अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय (एएमयू) के आंबेडकर हॉल फंक्शन में एक छात्र द्वारा पूछे गये सवाल पर कहा, ‘‘यह राजनीतिक सवाल है. हमारे दामन पर खून के धब्बे हैं. कांग्रेस का मैं भी हिस्सा हूं तो मुझे मानने दीजिए कि हमारे दामन पर खून के धब्बे हैं.’’ उन्होंने कहा कि क्या आप यह कहना चाहते हैं कि चूंकि हमारे दामन पर खून के धब्बे लगे हुए हैं, इसलिए हमें आपके ऊपर होने वाले वार को आगे बढ़कर नहीं रोकना चहिए?

कांग्रेस ने पूर्व केंद्रीय मंत्री और वरिष्ठ पार्टी नेता सलमान खुर्शीद के सुर्खियों में आए इस बयान को उनकी ‘निजी राय’ करार देते हुए आज उससे पल्ला झाड़ लिया.

बहरहाल, एक और सवाल के जवाब में शाहनवाज हुसैन ने कहा कि कांग्रेस एक ऐसा राजनीतिक दल है जिसने हमारे संविधान की मूल भावना को नष्ट किया है और कांग्रेस व राहुल गांधी वंशवाद और तुष्टीकरण की राजनीति करना चाहते हैं. उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में भाजपा ‘सबका साथ सबका विकास’ के मंत्र को लेकर राष्ट्रहित की राजनीति में विश्वास रखती है.

No comments:

Post a Comment