इंदौर के पास मेहंदीकुंड में 3 साल में 20 दुष्कर्म - sach ki dunia

Breaking

Wednesday, May 2, 2018

इंदौर के पास मेहंदीकुंड में 3 साल में 20 दुष्कर्म

इंदौर/महू। क्राइम ब्रांच ने एक ऐसे गिरोह को पकड़ा है, जो पिकनिक स्पॉट पर प्रेमी जोड़ों को बंधक बनाकर लूटता था। गिरोह के सदस्य युवतियों से अश्लील हरकतें और दुष्कर्म भी करते थे। वे एक प्रेमी जोड़े की हत्या भी कर चुके हैं। पुलिस ने जंगलों से दोनों के कंकाल बरामद कर लिए हैं। आरोपितों से टॉप्स और चेन बरामद हुई। डीआईजी हरिनारायणचारी मिश्र के मुताबिक, पुलिस तीन महीने पहले हुई एक लूट की जांच कर रही थी।
इसी बीच सोमवार को मुखबिर की सूचना पर बलराम मकवाना (बसी पीपरी), गोविंद बारिया (कोदरिया) और बसी पीपरी व रुंडा निवासी दो नाबालिगों को गिरफ्तार किया। गिरोह का सरगना ईश्वर भील (कोदरिया) फरार है।
आरोपितों ने कबूला कि वे तीन साल से मेहंदीकुंड और आसपास के जंगलों में वारदात कर रहे थे। यहां घूमने व पार्टी के लिए आने वाले युवक-युवतियों को हथियारों के बल पर धमकाते और जेवर व रुपए छीन लेते। उनका वीडियो बनाकर परिजन को दिखाने की धमकी देते। वे युवक-युवती को अलग-अलग दिशा में जंगली और पहाड़ी क्षेत्रों में ले जाते। फिर युवती से ज्यादती करते। जांच में शामिल एक अफसर के मुताबिक आरोपितों ने 20 से अधिक युवतियों से ज्यादती करना कबूला है। शक है अभी तक वे 50 से अधिक युवतियों के ऐसी हरकत कर चुके हैं। इसमें ज्यादातर छात्राएं हो सकती हैं। बदनामी के डर से कोई थाने नहीं पहुंचा।
युवती इज्जत बचाने के लिए कूद गई, प्रेमी को पहाड़ी से फेंक दिया
आरोपितों ने 6 नवंबर 2017 को 19 वर्षीय श्रेया जोशी (सरदार पटेल नगर, कोदरिया) और दोस्त 19 वर्षीय हिमांशु सेन (धार नाका, महू) की हत्या करना कबूला है। दोनों मेहंदीकुंड आए थे। दोपहर करीब 2 बजे उन्होंने दोनों को ग्राम बड़िया के जंगल में पकड़ा और नकोड़ी कुंड ले गए। चाकू अड़ा कर उनसे 5200 रुपए, चेन, टॉप्स, चेकबुक, एटीएम कार्ड आदि लूटे। युवती से ज्यादती की कोशिश की तो उसने इज्जत बचाने के लिए पहाड़ी से छलांग लगा दी।
हिमांशु ने गिरोह में शामिल ईश्वर भील को पहचान लिया। इस पर गिरोह ने उसे पहाड़ी से फेंक दिया। कुछ देर बाद आरोपित नीचे उतरे तो उसकी सांसें चल रही थीं। पुलिस के डर से उसे पत्थरों से कुचलकर मार डाला और फरार हो गए। मंगलवार को नकोड़ी कुंड में सर्चिंग की गई तो श्रेया व हिमांशु की चप्पल, नाश्ते का डिब्बा और पानी की बोतल मिली। आरोपितों ने सबूत छुपाने के लिए दोनों के कपड़े भी जला दिए। कुछ दिन बाद चोरल के जंगल में दुपहिया भी जला दी। हत्या को छह माह होने से शव पूरी तरह कंकाल में बदल गए।
तेलंगाना में मिला मोबाइल तो लगा था कि शादी कर ली होगी
आरोपितों ने वारदात के बाद इनके मोबाइल एक ट्रक में फेंक दिए थे। युवती के फोन की लोकेशन मेहंदी कुंड, फिर मानपुर और आखिर में तेलंगाना की मिली थी, जिसे बरामद कर लिया गया था। इस कारण पुलिस व परिजन को लग रहा था कि दोनों ने भागकर शादी कर ली है। अब उन्हें परीक्षण के लिए भेजा जाएगा।
4 जनवरी को भी छात्र छात्रा को पकड़ा था, पर सायरन सुन भाग गए
एएसपी (क्राइम) अमरेंद्र सिंह के मुताबिक 4 जनवरी को न्यायनगर निवासी चार छात्राएं तीन छात्रों के साथ बामनिया कुंड घूमने गई थी। आरोपितों ने उन्हें हथियार दिखाकर पकड़ा और मलेंडी व मांगलिया की तरफ ले गए। मौका देखकर एमबीए छात्रा ने दोस्त को मैसेज कर दिया। पुलिस ने ग्रामीणों के साथ सर्चिंग शुरू की। सायरन की आवाज सुनकर आरोपित भाग गए। युवतियों ने बताया कि आरोपितों ने उन्हें लूटा और अश्लील हरकतें की।

No comments:

Post a Comment