मध्यप्रदेश और झारखंड बन गये हैं लिंचिंग सेंटर : खड़गे - sach ki dunia

Breaking

Monday, July 31, 2017

मध्यप्रदेश और झारखंड बन गये हैं लिंचिंग सेंटर : खड़गे

नयी दिल्ली : लोकसभा में नियम 193 के तहत मॉब लिंचिंग के मुद्दे पर सोमवार को चर्चा हुई. चर्चा में भाग लेते हुए कांग्रेस के नेता मल्लिकार्जुन खड़गे ने कहा कि किसी व्यक्ति को माहौल बना कर मारने की मैं निंदा करता हूं. भीड़ द्वारा हिंसा से देश का नाम दुनिया भर में खराब हो रहा है. खड़गे ने आगे कहा कि केंद्र सरकार गाय के नाम पर हत्या करने वालों को अप्रत्यक्ष रूप से प्रोत्साहित कर रही है. मोदी जी के नये भारत में कट्टरपंथी विचारधारा के लोग मासूम लोगों को मौत के घाट उतार रहे हैं. भाजपा के नेता और मंत्री ऐसी घटनाओं को प्रोत्साहित कर रहे हैं. उन्होंने कहा कि ऐसी घटनाओं पर पीएम मोदी मन की बात नहीं कहते हैं.
खड़गे ने चर्चा के दौरान कहा कि आजादी के 70 सालों में ऐसी घटनाएं कभी नहीं हुईं. गाय के नाम पर, धर्म के नाम पर इस देश में हत्याएं पिछले 70 सालों में नहीं हुई हैं. भाजपा के सांसद निशिकांत ने कहा कि खड़गे जिन मामलों की बात कर रहे हैं वे सभी न्यायालय में हैं. ऐसे में उन घटनाओं को नहीं उठाया जाना चाहिए.
आगे कांग्रेस सांसद खड़गे ने कहा कि जिस दिन पीएम मोदी ने मॉब लिंचिंग पर बोला था उसी दिन मॉब लिंचिंग हुई. मॉब लिंचिंग की घटनाओं के पीछे बजरंग जल और भाजपा से जुड़े संगठन जिम्मेदार हैं. उन्होंने कहा कि झारखंड और मध्यप्रदेश लिंचिंग सेंटर बन गये हैं. खडगे ने जुनैद की हत्या का मामला भी सदन में उठाया. 
उन्होंने कहा कि सरकार ने गोरक्षकों पर कितने केस किये, कितनों को गिरफ्तार किया है? क्या ऐक्शन लिया है बताएं. कांग्रेस ने सदन में प्रधानमंत्री की उपस्थिति की मांग की जिसपर स्पीकर ने कहा कि गृह मंत्री यहां मौजूद हैं. खड़गे ने आगे कहा कि ऐसी घटनाएं अंग्रेजों के समय हुआ करती थीं, लेकिन वे लोकतंत्र में भी हो रही हैं जो शर्मनाक है. मल्लिकार्जुन खड़गे ने पूर्व राष्ट्रपति प्रणव मुखर्जी के बयान का लिया सहारा जिसपर भाजपा ने आपत्ति जतायी. भाजपा सांसद अनंत सिंह ने कहा कि नियमों के मुताबिक पूर्व राष्ट्रपति के बयान का सहारा नहीं लिया जा सकता है.
कांग्रेस सांसद मल्लिकार्जुन खडगे के सवालों का जवाब भाजपा की ओर से मधुबनी से सांसद हुक्म नारायण देव ने दिया. उन्होंने कहा कि भारत का प्रधानमंत्री जब कहता है तो ये राज्य सरकार की जिम्मेदारी बनती है कि वे कार्रवाई करें. उन्होंने कहा कि लोहिया कहा करते थे नीति पर शंका करो लेकिन नियत पर न करें. हुक्म नारायण देव ने कहा कि सरकार को बदनाम करने के लिए योजनाबद्ध कार्यक्रम चलाए जा रहे हैं. देश में ऐसे भी नेता हैं जो कहते हैं कि सेना पर पत्थर फेंकने वाले लोग अपने अधिकारों के लिए लड़ रहे हैं. जुनैद की हत्या पर हुक्मदेव नारायण ने कहा कि वह केवल सीट के लिए झगड़ा था जिसे हिंदू-मुस्लिम मुद्दा बना दिया गया. मैं ऐसी जगह से जीत के आता हूं जहां सबसे ज्यादा मुस्लिम रहते हैं. मुझे कुछ मुस्लिमों का वोट मिलता है क्यों ? उन्होंने आगे सवाल किया कि  वंदे मातरम गाना अपराध है क्या? हुक्मदेव नारायण ने कहा कि मेरे अंदर वो खून है अंग्रेजों से लड़ा था. मर जाऊंगा लेकिन कांग्रेस के सामने नहीं झूकुंगा.

No comments:

Post a Comment