तो क्या दाऊद ने गुजरात में पहुंचाई 4200 करोड़ की हेराेइन? - sach ki dunia

Breaking

Monday, July 31, 2017

तो क्या दाऊद ने गुजरात में पहुंचाई 4200 करोड़ की हेराेइन?

पोरबंदर में रविवार को पकड़े गए 1500 किलो हेरोइन के मामले में पाकिस्तान कनेक्शन सामने आ रहा है. यही नहीं सूत्रों के हवाले से खबर आ रही है कि इसके पीछे अंडरवर्ल्ड डॉन दाऊद का हाथ है. इस मामले में गुजरात एटीएस जांच कर रही है और दो लोगों को हिरासत में लेकर पूछताछ की जा रही है.
भारतीय तटरक्षक बल ने रविवार को गुजरात सीमा के पास एक कॉमर्शियल बोट से 1500 किलो हेरोइन जब्त की जिसकी कीमत 4200 करोड़ रुपये बताई गई है. नाव के आठ क्रू मेंबर्स को हिरासत में ले लिया गया है. सभी क्रू मेंबर्स भारतीय हैं. नाव पनामा में पंजीकृत है और इसका नाम एमवी हेनरी है. खुफिया जानकारी मिलने पर तीन दिन तक के ऑपरेशन के तहत इस पर कार्रवाई की गई.  
इस मामले में जहाज के कप्तान के संपर्क में रहे दो शक्स को गुजरात एटीएस ने हिरासत में ले लिया है. कप्तान के मुताबिक भावनगर के मिड सी में ड्रग्स की खेप को लेने यही दो लोग आने वाले थे. गुजरात एटीएस उनसे पूछताछ कर रही है. पूछताछ में पता चला कि खेप को भावनगर पहुंचाने के बदले कप्तान को 5 करोड़ रुपये मिलने वाले थे.
पूछताछ में पता चला कि शिप हेनरी पनामा में रजिस्टर्ड है लेकिन इसका मालिक ईरान का है. मालिक मोरानी के नाम से जाना जाता है. जुलाई के पहले सप्ताह में मालिक ने शिप के कप्तान सुरप्रित तिवारी को बुलाया. सुरप्रित कलकत्ता का रहने वाला है. 
मालिक ने सुरप्रित को शिप में फेब्रिकेशन की सूचना दी,फेब्रिकेशन ईरान के चाहबार पोर्ट पर किया गया. एक बड़ी कैविटी बनाई गई. उसके बाद तीन स्पीड बोट में पैकिंग किया गया सामान आया. उसे शिप में नई बनाई गई कैविटी में छुपाकर ऊपर दोबारा फेब्रिकेशन किया गया. पहले माल को ईजिप्त ले जाने को कहा लेकिन बाद में सेटेलाइट फोन पर भावनगर जानें को कहा.
शिप में सवार सभी आठ लोग खेप के बारे में जानते थे. सूत्रो के मुताबिक इसके पीछे पाकिस्तान में बैठे दाऊद का हाथ हो सकता है. चूंकि इतनी बड़ी खेप के पीछे बड़ी ताकत होनी चाहिए. फिलहाल सारे पहलुओं को ध्यान में रखते हुए जांच चल रही है. आने वाले समय में बड़े खुलासे हो सकते हैं.

No comments:

Post a Comment