मंदसौर गोलीकांडः मृतकों के परिजनों को एक करोड़ रुपए और नौकरी देगी शिवराज सरकार - sach ki dunia

Breaking

Wednesday, June 7, 2017

मंदसौर गोलीकांडः मृतकों के परिजनों को एक करोड़ रुपए और नौकरी देगी शिवराज सरकार

मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने मंदसौर गोलीकांड में मारे गए किसानों के परिजनों को एक-एक करोड़ रुपए की सहायता राशि देने की घोषणा की है. साथ ही मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने घटना की न्यायिक जांच के आदेश दिए हैं.

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह ने चार घंटे में तीन बार अलग-अलग मुआवजा राशि देने की घोषणा की है. उन्होंने सबसे पहले फायरिंग में मारे गए लोगों के परिजनों को पांच-पांच लाख रुपए की राशि देने की बात कही थी. कुछ ही देर बाद उन्होंने ट्वीट करते हुए सहायता राशि 10 लाख रुपए और गंभीर घायलों को एक लाख रुपए की मदद देने की घोषणा की.

वहीं, देर रात को उन्होंने मुआवजा राशि बढ़ाकर एक करोड़ कर दी. साथ ही मृतकों के परिवार के एक सदस्य को नौकरी भी दी जाएगी.

क्या है मामला?
प्रदेश में कर्ज माफी और फसल के वाजिब दाम की मांग को लेकर आंदोलनरत किसानों पर मंगलवार को मंदसौर में पुलिस की ओर से कथित तौर पर की गई गोलीबारी में छह किसानों की मौत हो गई और कई अन्य घायल हो गए.

राज्य के गृहमंत्री भूपेंद्र सिंह ने हालांकि पुलिस की ओर से गोली चलने की बात से इंकार किया है. बिगड़ते हालात को देखते हुए मंदसौर शहर और पिपलिया मंडी क्षेत्र में कर्फ्यू लगा दिया गया है. साथ ही मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने घटना की न्यायिक जांच के आदेश दिए हैं.

प्रत्यक्षदर्शियों के अनुसार, राज्य में किसान अपनी मांगों को लेकर मंगलवार सुबह से अलग-अलग स्थानों पर विरोध प्रदर्शन कर रहे थे. नीमच-मंदसौर मार्ग पर स्थित पिपलिया मंडी में भी किसान सड़कों पर उतरे.

किसानों ने सड़क से गुजरते ट्रकों से सब्जी और फलों को फेंकना शुरू कर दिया. कई वाहनों पर पथराव किया और तोड़फोड़ की. पुलिस बल और केंद्रीय औद्योगिक सुरक्षा बल के जवानों ने किसानों को खदेड़ने की कोशिश की.

एक प्रत्यक्षदर्शी ने बताया, 'पुलिस ने प्रदर्शनकारियों पर लाठियां बरसानी शुरू की तो किसानों ने पथराव कर दिया. पुलिस ने भी पत्थरों का इस्तेमाल किया. इसी दौरान पुलिस ने गोलीबारी शुरू कर दी. इसी फायरिंग में छह किसानों को अपनी जान गंवानी पड़ी.'

No comments:

Post a Comment