एग्जिट पोल 2017: पंजाब में अगर बनी 'आप' की सरकार, तो केजरीवाल होंगे सीएम के दावेदार! - sach ki dunia

Breaking

Friday, March 10, 2017

एग्जिट पोल 2017: पंजाब में अगर बनी 'आप' की सरकार, तो केजरीवाल होंगे सीएम के दावेदार!

नई दिल्ली :  
पांच राज्यों में चुनावों पर पर्दा गिरने के बाद गुरुवार को होली से पहले आए एग्जिट पोल के नतीजों ने हलचल पैदा कर दी है। विशेषकर पंजाब को लेकर आए एग्जिट पोल के आंकड़ों ने राज्य के अगले मुख्यमंत्री को लेकर अटकलों को हवा दी है।
एग्जिट पोल की मानें तो पंजाब में 'आप' की सरकार बनना तय माना जा रहा है। दिल्ली की सत्ता से अपना सियासी सफर तय करने वाली आम आदमी पार्टी यहां बीजेपी के साथ गठबंधन में सत्ताधारी शिरोमणि अकाली दल और कांग्रेस को चारों खाने चित करते हुए आगे बढ़ती हुई नजर आ रही है।
ऐसे में सवाल खड़ा होता है कि राज्य में यदि 'आप' पार्टी से सीएम बनता है, तो वह चेहरा कौन होगा? हाल ही में अरविंद केजरीवाल को पंजाब का सीएम बनने की खबरे आई थी लेकिन इन अटकलों पर विराम लगाते हुए उन्होंने कहा था कि वह राज्य की बागडोर नहीं संभालेंगे। केजरीवाल ने साफ कर दिया था कि पंजाब का मुख्यमंत्री पंजाब से ही होगा।
मनीष सिसोदिया ने लगाई थी मुहर
यह सवाल पंजाब के मोहाली में दिल्ली के उपमुख्यमंत्री और केजरीवाल के सबसे करीबी माने जाने वाले मनीष सिसोदिया के दिए बयान के बाद खड़े हुए थे। मोहाली में एक चुनावी रैली में मनीष सिसोदिया ने कहा था कि आप ये समझ कर वोट दें कि आप अरविंद केजरीवाल को ही वोट दे रहे हो, वहीं सीएम होंगे, आपका वोट केजरीवाल के नाम पर है।
इतना ही नहीं सिसोदिया ने इसके साथ ही कहा था ​कि पंजाब में चुनाव जीतने के बाद चाहे कोई भी मुख्यमंत्री हो, लेकिन अरविंद केजरीवाल ही काम पूरा करके दिखाएंगे। सिसोदिया के इस बयान से अटकलों का बाजार एक बार फिर से गर्म हो गया है कि क्या अगर आम आदमी पार्टी पंजाब में चुनाव जीत जाती है तो केजरीवाल दिल्ली की गद्दी छोड़कर पंजाब की कमान संभालेंगे। या फिर वो सुपर सीएम की तरह होंगे जो दिल्ली में बैठकर ही पंजाब की सत्ता पर भी अपना कंट्रोल रखेंगे।
वैसे भी दिल्ली में केजरीवाल बिना किसी पोर्टफोलियो के मुखयमंत्री हैं। और दूसरा पंजाब में केजरीवाल पार्टी के प्रचार अभियान का मुख्य चेहरा रहे हैं। यह दोनों बातें उन्हें सीएम पद के उम्मीदवार की दौड़ में सबसे आगे बनाती है। 
अरविंद केजरीवाल अपनी पार्टी के एक मात्र ऐसे नेता हैं जो लोगों के बीच लोकप्रिय हैं, ऐसे में केजरीवाल ज्यादातर समय संगठन के विस्तार पर ही लगाते हैं और अप्रत्यक्ष तौर पर सिसोदिया उनकी जगह दिल्ली की कमान संभाले रखते हैं। पंजाब में चुनाव जीतने पर केजरीवाल के सीएम बनने की बात पहले भी सामने आ चुकी है। हालांकि, जिस वक्त ये बातें हो रही थी उस वक्त आम आदमी पार्टी ने कहा था कि ऐसा कुछ नहीं होगा और उनके पास पंजाब में भी कई काबिल नेता हैं।
रंग लाई आप की मेहनत!
एग्जिट पोल 2017 की माने तो उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड, मणिपुर, गोवा में बीजेपी की बढ़त को दिखाया जा रहा है, वहीं पंजाब में आम आदमी पार्टी की मेहनत रंग लाते हुए दिख रही है। साथ ही कई सर्वे कांग्रेस और आप के बीच कांटे की टक्कर बता रहे हैं।

No comments:

Post a Comment