छुट्टी मनाने नामी रिसोर्ट गए एक ही परिवार के 4 सदस्यों की रहस्यमय मौत, केस दर्ज - sach ki dunia

Breaking

Friday, September 27, 2019

छुट्टी मनाने नामी रिसोर्ट गए एक ही परिवार के 4 सदस्यों की रहस्यमय मौत, केस दर्ज

इंदौर. मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) की व्यावसायिक राजधानी कहे जाने वाले इंदौर (Indore) में दिल दहला देने वाला मामला सामने आया है. खुदेल इलाके के एक नामी रिसोर्ट (Resort) में रहस्यमय हालत में एक ही परिवार के चार लोगों के शव (Dead Body) मिलने से सनसनी फैल गई है. इसकी सूचना मिलते ही पुलिस टीम मौके पर पहुंची और उसने मामले की जांच शुरू कर दी है.
छुट्टी मनाने गया था पूरा परिवार
जानकारी के अनुसार इंदौर के लसूड़िया थाना क्षेत्र की एक पॉश कॉलोनी में 45 वर्षीय अभिषेक सक्सेना अपनी पत्नी और दो बच्चों के साथ रहते थे. एक दिन पहले ही अभिषेक ने एक नामी रिसोर्ट में दो दिन के लिए कमरा बुक कराया था. बुधवार को उनका पूरा परिवार हंसी-खुशी यहां पहुंचा था. गुरुवार को जब परिवार का कोई सदस्य रिसोर्ट के कमरे से बाहर नहीं निकला तो रिसोर्ट प्रबंधन को शंका हुई. काफी कोशिशों के बाद भी जब अंदर से दरवाजा नहीं खोला गया तो मास्टर चाबी (Master Key) का इस्तेमाल कर कमरे का दरवाजा खोला गया. कमरे के अंदर का नजारा देखकर रिसोर्ट के कर्मचारियों के होश उड़ गए. कमरे के अंदर अभिषेक, उनकी पत्नी और दोनों जुड़वा बच्चों के शव पड़े हुए थे.
जहरीला पदार्थ खाने की आशंका
रिसोर्ट प्रबंधन ने आनन-फानन में पुलिस को इसकी सूचना दी. पुलिस के साथ पहुंची एफएसएल (Forensic Science Laboratory) टीम ने बारीकी से घटनास्थल का मुआयना किया. प्रथम दृष्टया ये आशंका जताई जा रही है कि इन चारों की मौत किसी जहरीले पदार्थ को खाने से हुई है. पुलिस ने चारों के शव कब्जे में लेकर उसे पोस्टमॉर्टम के लिए भेज दिया है.
काफी रिजर्व रहता था परिवार
पुलिस के मुताबिक अभिषेक सक्सेना एक निजी कंपनी में काम करता था और लसूड़िया की पॉश टाउनशिप में किराए के घर में अपनी पत्नी, दो बच्चों के अलावा अपनी 86 वर्षीय मां के साथ रहता था. अभिषेक के अन्य रिश्तेदार दिल्ली में रहते हैं जिन्हें घटना की सूचना दे दी गई है. परिवार के सदस्यों के इंदौर पहुंचने के बाद शवों का पोस्टमॉर्टम कराया जाएगा. सक्सेना परिवार के पड़ोसियों का कहना है कि इस परिवार का ज्यादा लोगों से मेलजोल नहीं था और सोसाइटी में होने वाले कार्यक्रमों में भी वो शामिल  नहीं होते थे.

No comments:

Post a Comment