क्रिकेट का कमाई कनेक्शन: WC से टीम इंडिया आउट, विज्ञापन कारोबार को बड़ा झटका - sach ki dunia

Breaking

Saturday, July 13, 2019

क्रिकेट का कमाई कनेक्शन: WC से टीम इंडिया आउट, विज्ञापन कारोबार को बड़ा झटका

टीम इंडिया के सेमीफाइनल में हार के साथ ही तीसरी बार वर्ल्ड कप जीतने का सपना इस बार टूट गया, लेकिन सिर्फ टीम को ही झटका नहीं लगा बल्कि वर्ल्ड कप की आधिकारिक प्रसारणकर्ता स्टार स्पोर्ट्स को इससे बड़ा झटका लगा है. भारत के बाहर होने के बाद स्टार को सिर्फ विज्ञापन से ही 10 से 15 करोड़ रुपये का चूना लगने की आशंका जताई जा रही है. साथ ही भारत के फाइनल में नहीं खेलने से रेस्टोरेंट और मल्टीप्लेक्स को मैच के जरिए होने वाली बड़ी कमाई की संभावना भी खत्म हो गई है क्योंकि दर्शकों की रुचि इस मैच में कम हो गई है.
मीडिया रिपोर्ट्स में कहा जा रहा है कि भारत अगर फाइनल में पहुंचता तो स्टार विज्ञापन के लिए प्रति सेकंड 25 से 30 लाख वसूलता, लेकिन अब वह इंग्लैंड और न्यूजीलैंड के बीच होने वाले फाइनल मुकाबले में विज्ञापन के लिए महज 15 से 17 लाख ही ले सकेगा. वहीं भारतीय टीम के फाइनल में नहीं होने से रेस्टोरेंट और मल्टीप्लेक्स में होने वाली कमाई पर असर पड़ सकता है. माना जा रहा है बड़े स्क्रीन पर मैच दिखाने के एवज में बड़े रेस्टोरेंट और मल्टीप्लेक्स अच्छी खासी कमाई करते. ऐसा नहीं होने से अब माना जा रहा है कि 50 से 100 करोड़ का नुकसान हो सकता है.
मिंट ने अपनी एक रिपोर्ट में दावा किया था कि वर्ल्ड कप से स्टार को 1,800 करोड़ रुपये का राजस्व होना था, लेकिन अब उसमें कमी आ सकती है. भारत के बाहर होने से कितना नुकसान हुआ है, इस संबंध में विस्तृत जानकारी खिताबी मैच के बाद आ सकती है.
2015 से डबल कमाई
प्रसारणकर्ता स्टार इंडिया उम्मीद कर रहा था कि 1,200 से 1,500 करोड़ रुपये टीवी विज्ञापन और 300 करोड़ हॉटस्टार के जरिए कमाई होगी. 2015 के वर्ल्ड कप की तुलना में इस बार डबल कमाई की उम्मीद थी. 4 साल पहले वर्ल्ड कप से स्टार इंडिया को 700 करोड़ रुपये की कमाई हुई थी. इस बार वर्ल्ड कप के लिए स्टार ग्रुप ने कम से कम 40 बड़ी कंपनियों के साथ करार किया हुआ है.
भारत में वर्ल्ड कप से पहले हुए इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) से प्रसारणकर्ता स्टार इंडिया को पिछले साल की कमाई की तुलना में मामूली बढ़ोतरी हुई. पिछले साल आईपीएल-11 से 1800 से 2000 करोड़ की कमाई हुई थी जबकि इस बार उसे 2000 करोड़ से ज्यादा (2500 करोड़ तक अनुमानित) की आमदनी हुई. आईपीएल-10 में यही कमाई 1300 करोड़ तक थी.
तो क्या घटेंगे दर्शक
अब भारत वर्ल्ड कप की रेस से बाहर हो चुका है. इंग्लैंड और न्यूजीलैंड दोनों के पास रविवार को पहली बार वर्ल्ड चैंपियन बनने का मौका है. क्रिकेट के दीवानों को एक नए वर्ल्ड चैंपियन का इंतजार है, टेलीविजन पर इस खिताबी जंग को कितने दर्शक देखेंगे यह तो वक्त बताएगा. हालांकि माना जा रहा है कि इस बड़े मैच में दर्शकों की संख्या में कमी आएगी, लेकिन एक नजर डालते हैं कि किस खिताबी जंग को दुनिया के सबसे ज्यादा लोगों ने देखा.
भारत-पाक मैच ने ध्वस्त किए रिकॉर्ड
क्रिकेट का 'मक्का' कहे जाने वाले लॉर्ड्स में रविवार को होने वाले खिताबी मुकाबले के लिए दोनों टीमें अपनी रणनीति बनाने में जुटी हैं. क्रिकेट में फुटबॉल, टेनिस और बेसबॉल जैसे अन्य खेलों की तुलना में वैश्विक स्तर पर कम कमाई होती है, लेकिन जब बात क्रिकेट के बड़े मुकाबलों में टीवी दर्शकों की आती है तो यह अन्य खेलों को बड़ी चुनौती दे रहा होता है.
क्रिकेट के दीवानों की संख्या दुनियाभर में है. इंग्लैंड में खेले जा रहे वर्ल्ड कप का सबसे चर्चित मुकाबला रहा भारत और पाकिस्तान के बीच का, जो 16 जून को खेला गया. कट्टर प्रतिद्वंद्वी भारत और पाकिस्तान के बीच इस मुकाबले ने क्रिकेट मैच देखने के अब तक के सारे रिकॉर्ड ध्वस्त कर दिए. इससे पहले सबसे ज्यादा मैच देखने का रिकॉर्ड 2011 का वर्ल्ड कप वो फाइनल मैच था जो भारत और श्रीलंका के बीच खेला गया और टीम इंडिया वर्ल्ड चैंपियन बनी थी.
सबसे ज्यादा देखे जाने वाले क्रिकेट मैच (निचले क्रम में)

क्रम टूर्नामेंट टीमों के बीच मुकाबलास्टेजदर्शकों की संख्या
6. वर्ल्ड कप 2015 भारत बनाम दक्षिण अफ्रीकाग्रुप मुकाबला30 करोड़ दर्शक
5. वर्ल्ड कप 2015 भारत बनाम पाकिस्तानग्रुप मुकाबला31.3 करोड़ दर्शक
4. चैंपियंस ट्रॉफी 2017 भारत बनाम पाकिस्तानग्रुप मुकाबला 32.4 करोड़ दर्शक
3. वर्ल्ड कप 2011 भारत बनाम पाकिस्तानसेमीफाइनल 49.5 करोड़ दर्शक
2. वर्ल्ड कप 2011 भारत बनाम श्रीलंकाफाइनल55.8 करोड़ दर्शक
1. वर्ल्ड कप 2019 भारत बनाम पाकिस्तानग्रुप मुकाबला 100 करोड़ दर्शक

टीवी पर 50 करोड़ दर्शक
अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) के सीईओ डेविड रिचर्डसन का कहना है कि इस वर्ल्ड कप में भारत-पाकिस्तान के बीच मुकाबले को करीब 50 करोड़ लोगों ने टीवी पर देखा जबकि डिजिटल चैनल और अन्य प्लेटफॉर्मों के जरिए करीब 50 करोड़ दर्शकों ने मैच का लुत्फ लिया. इस तरह से इस मैच को 100 करोड़ लोगों ने देखा. इससे पहले सबसे ज्यादा क्रिकेट मैच देखने का रिकॉर्ड 2011 के वर्ल्ड कप में बना था.
हालांकि क्रिकेट के बड़े मुकाबलों की तुलना में अन्य खेलों के बड़े मुकाबलों की बात करें तो क्रिकेट अभी भी काफी पीछे है. क्रिकेट में पहली बार किसी मुकाबले में देखने वालों की संख्या 100 करोड़ तक पहुंची. जबकि अन्य खेलों में दर्शकों की संख्या पहले ही 100 करोड़ से काफी आगे जा चुकी है.
फुटबॉल निर्विवाद रूप से दुनिया का सबसे लोकप्रिय खेल है और दुनियाभर में सबसे ज्यादा फुटबॉल मैच ही देखे जाते हैं. 2018 के फीफा वर्ल्ड कप को दुनिया में करीब 350 करोड़ लोगों ने टीवी पर देखा था, जिनमें अकेले फाइनल मुकाबले को देखने वालों की संख्या 112 करोड़ थी. फाइनल मैच फ्रांस और क्रोएशिया के बीच था जिसमें फ्रांस ने 4-2 से जीत हासिल की थी. फाइनल मैच के 112 करोड़ दर्शकों में 51 करोड़ दर्शकों ने टीवी का सहारा लिया जबकि बाकी दर्शक अन्य डिजिटल प्लेटफॉर्मों के जरिए मैच का लुत्फ लिया.
टूर्नामेंट के कुल दर्शक
2016 रियो ओलंपिक गेम्स  360 करोड़ दर्शक
2018 फीफा वर्ल्ड कप 350 करोड़ दर्शक
2015 क्रिकेट वर्ल्ड कप 220 करोड़ दर्शक
रूस में हुए 2018 के फीफा वर्ल्ड कप में प्रति मैच के हिसाब से देखा जाए तो 64 मैचों को 350 करोड़ दर्शकों ने देखा, इस तरह प्रति मैच दर्शकों की संख्या 19 करोड़ (191 मिलियन) के करीब रही. जबकि 2014 के वर्ल्ड कप में प्रति मैच दर्शकों की संख्या 18.7 करोड़ रही.
वर्ल्ड कप के बाद फ्रांस की चर्चित टूर द फ्रांस रेस आता है जिसे 260 करोड़ लोगों ने देखा. तीसरे नंबर पर ओलंपिक गेम्स है जिसे कराब 200 करोड़ लोग देखते हैं.
भारत के वर्ल्ड कप से बाहर होने से न सिर्फ भारतीय दर्शक निराश हो गए, बल्कि प्रसारणकर्ताओं और आयोजकों को भी झटका लगा है. उम्मीद की जानी चाहिए फाइनल में इंग्लैंड और न्यूजीलैंड के बीच मुकाबला इस कदर कांटेदार हो कि दर्शकों को मैच का पूरा मजा मिले और भारत के नहीं होने के असर को कुछ कम किया जा सके.

No comments:

Post a Comment