2018 और 2019 में रिकॉर्ड जीत हासिल करेंगे : शिवराज - sach ki dunia

Breaking

Friday, May 4, 2018

2018 और 2019 में रिकॉर्ड जीत हासिल करेंगे : शिवराज

भोपाल। 2018 और 2019 में रिकॉर्ड जीत दर्ज करेंगे। जो प्रदेश को नहीं समझता वो क्या हमारा मुकाबला करेगा। ये बात मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने भाजपा की प्रदेश कार्यसमिति की बैठक को संबोधित करते हुए कही।
भोपाल में भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह के आने से पहले हुई प्रदेश कार्यसमिति की बैठक हुई। नवनियुक्ति प्रदेश अध्यक्ष राकेश सिंह की अध्यक्षता में हुई इस बैठक में सीएम शिवराज के अलावा नरेंद्र सिंह तोमर, प्रभात झा, नरोत्तम मिश्रा सहित पार्टी के अन्य पदाधिकारी और नेता मौजूद थे।
अपने संबोधन में सीएम शिवराज ने कहा कांग्रेसी सुने लें, अबकी बार 200 पार का हमारा लक्ष्य है। उन्होंने कहा कि पार्टी 2018 और 2019 में रिकॉर्ड जीत हासिल करेगी। सीएम यहीं नहीं रुके, उन्होंने कहा कि जो लोग सोने की चम्मच लेकर पैदा हुए वो भूख जानते नहीं। जो प्रदेश को समझते नहीं वो क्या हमारा मुकाबला करेंगे। कांग्रेस के कागज के शेर बीजेपी के शेर का मुकाबला नहीं कर सकते। उन्होंने ये भी कहा कि अमित शाह अनहोनी को होनी करने वाले नेता हैं।
सीएम ने कुर्सी छोड़ने के अपने गुरुवार को दिए बयान पर सफाई भी दी। उन्होंंने कहा कि आनंद विभाग का आयोजन था। इसमें मजाक में मैंने एक बात कही तो कुछ लोगों के मन में लड्डू फूट रहे हैं। बैठक को अन्य नेताओं ने भी संबोधित किया।
 
पार्टी के संगठन महामंत्री रामलाल बोले कांग्रेस फैमिली पार्टी और भाजपा और फैमिलियर पार्टी। उन्होंने कहा कि विधानसभा चुनाव में 50 फीसदी वोट हासिल करना पार्टी का लक्ष्य है। भाजपा प्रदेश अध्यक्ष बदले जाने पर रामलाल बोले कि पार्टी में कार्यकर्ता सबसे अहम है। पहले नंदकुमार प्रदेश अध्यक्ष थे और अब राकेश सिंह हैं।संगठन ने इन्हें बदलने का फैसला किया लेकिन इससे किसी को चिंतित नहीं होना चाहिए। कोई छोटा या बड़ा कार्यकर्ता नहीं है। उन्होंने कहा कि जमीन से जुड़कर रहें।
उन्होंने कहा कि इसे इस नजर से भी देख सकते हैं कि आलाकमान की ओर से ये ताकीद की जा रही है कि नाम कोई भी हो पार्टी से ऊपर नही हैं। कार्यकर्ताओं को राकेश सिंह के साथ काम करने की ताकीद है।


इधर पूर्व मुख्यमंत्री बाबूलाल गौर ने कहा कि आज से कौरव और पांडवों की लड़ाई शुरू हो गई है। पांडव हम हैं और कौरव कौन है यह समझ जाओ।

No comments:

Post a Comment