सलमान खान के वे डायलॉग जिन्होंने दिलाया उन्हें स्टारडम - sach ki dunia

Breaking

Wednesday, December 27, 2017

सलमान खान के वे डायलॉग जिन्होंने दिलाया उन्हें स्टारडम

सलमान खान अपना 52वां जन्मद‍िन मना रहे हैं. 27 दिसंबर, 1965 को जन्मे थे.  सलमान पनवेल फार्म हाउस में अपना जन्मद‍िन मना रहे हैं.  उनके केक की तस्वीरें भी सामने आईं. सलमान की फिल्मों की खास‍ियत उनके डायलॉग रहे हैं. ये दर्शकों की जुबां पर रहते हैं. सलमान की डायलॉग डिलेवरी इन्हें और दमदार बना देती है. जानते हैं उनके ऐसे ही डायलॉग्स को. 
दोस्ती का एक उसूल होता है मैडम, नो सॉरी, नो थैंक्यू (मैंने प्यार किया)
लोग कहते हैं कि खूबसूरत लड़कियां जब झूठ बोलती हैं तो और भी खूबसूरत लगती हैं (हम आपके हैं कौन)
अगर तुम मुझे यूं ही देखती रही तो तुम्हें मुझसे प्यार हो जाएगा (हम दिल दे चुके सनम)
इक बार जब मैंने कमिटमेंट कर दी उसके बाद तो मैं खुद की भी नहीं सुनता (वांटेड)
मुझपर एक एहसान करना कि मुझपर कोई एहसान मत करना (बॉडीगार्ड)
हमारा नाम हमारी पर्सनालिटी को शोभा देता है, चुलबुल पांडे उर्फ रॉबिन हुड पांडे (दबंग)
मेरे बारे में इतना मत सोचना, दिल में आता हूं समझ में नहीं (किक)
असली पहनवानी की पहचान अखाडे में नहीं, जिंदगी में होवे है. (सुल्तान)
हम तुममें इतने छेद करेंगे कि कनफ्यूज हो जाओगे कि सांस कहां से लें और पादें कहां से (दबंग)

No comments:

Post a Comment