प्रियंका का मोदी पर वार, क्या यूपी को किसी बाहरी को गोद लेने की जरूरत? - sach ki dunia

Breaking

Friday, February 17, 2017

प्रियंका का मोदी पर वार, क्या यूपी को किसी बाहरी को गोद लेने की जरूरत?

तमाम अटकलों के बीच पहली बार प्रियंका गांधी ने यूपी विधानसभा चुनाव प्रचार के लिए मैदान पर उतरीं. उनके निशाने पर सीधे देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी थे. पीएम मोदी पर हमला बोलते हुए प्रियंका ने कहा कि उन्होंने कहा कि मैं यूपी का गोद लिया हूं बेटा हूं, क्या यूपी को किसी बाहरी व्यक्ति को गोद लेने की जरुरत है?
प्रियंका ने लोगों को संबोधित करते हुए कहा कि यहां का नौजवान नेता बन सकता है. प्रियंका गांधी ने कहा कि जब मोदी ने यूं ताली बजाकर नोटबंदी की और महिलाओं की बचत को बाहर फिंकवा दिया यह भी तो महिलाओं पर अत्याचार है. पीएम ने बहुत खोखले वादे किए हैं, तीन साल से सरकार में हैं, वाराणसी के लिए कुछ नहीं किया. जब राजीव गांधी पीएम थे, तो अमेठी का बहुत विकास  किया था. उन्होंने कहा कि विकास क्या चीज होती है ये अमेठी की जनता से पूछें पीएम मोदी.
यूपी के रायबरेली में चुनाव प्रचार के मकसद से प्रियंका गांधी वाड्रा अपने भाई कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी के साथ पहुंचीं. इस मौके पर राहुल गांधी ने बीजेपी और पीएम मोदी पर जमकर कटाक्ष किया. लोगों को संबोधित करते वक्त प्रियंका गांधी पुराने अंदाज में नजर आ रही थीं.
राहुल का मोदी पर वारराहुल गांधी ने रैली को संबोधित करते हुए कहा कि कुछ महीने पहले कांग्रेस ने किसानों के मुद्दों पर पूरे उत्तर प्रदेश में यात्रा निकाली थी. उत्तर प्रदेश के दो करोड़ किसान पीएम मोदी से कर्जा माफी की अपील कर रहे हैं. मैंने पीएम मोदी से कर्जा माफ के लिए मुलाकात की, जब मैं उनसे मिलने गया तो उन्होंने किसानों की कर्जा माफी के लिए कुछ नहीं बोला.
उत्तर प्रदेश के चुनाव आते ही उन्होंने कहा कि बीजेपी की सरकार आते ही कर्जा माफ करने की बातें की. कांग्रेस पार्टी ने किसानों का 70 हजार करोड़ का कर्जा माफ किया था. तब हमारी उत्तर प्रदेश में सरकार नहीं थी. अगर पीएम मोदी चाहें तो 15 मिनट में कर्जा माफ कर सकते हैं. पीएम मोदी ने बिहार में चुनावों से पहले भी लाखों करोड़ों रुपये देने का वादा किया था, लेकिन चुनाव हारने के बाद उन्होंने बिहार को स्पेशल पैकेज नहीं दिया.
पीएम जहां जाते हैं, रिश्ता बनाते हैंराहुल गांधी ने कहा कि पीएम मोदी जहां भी जाते हैं वहां रिश्ता बनाते हैं. बनारस गए तो कहा कि बनारस का बेटा हूं, गंगा मेरी मां हैं. उन्होंने बनारस को वादा किया था कि बनारस को मैं साफ कर दूंगा, लेकिन बनारस अभी भी साफ नहीं है. मीडिया वालों को पीएम मोदी से घबराहट होती है. मोदी जी ने कहा कि हिंदुस्तान गंदा है, यहां बहुत कचरा रहता है, ऐसा करते हैं कि मैं अमेरिका जा रहा हूं, ओबामा से मिलने और तुम लोग झाड़ू उठाकर सफाई कर लो. इससे पहले राहुल गांधी ने फतेहपुर में रैली के दौरान भी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर हमले किए.
वादे पूरे करो सरकार!
कांग्रेस उपाध्यक्ष ने मोदी को अपने वादे पूरे करने की नसीहत दी. राहुल गांधी का आरोप था कि पीएम ने अच्छे दिनों का वादा किया था, जो पूरा नहीं हुआ. उन्होंने कहा- '2014 में मोदीजी ने कहा अच्छे दिन आएंगे. दिलवाले दुल्हनिया वाली पिक्चर दिखाई, 2.5 साल बाद लगा गब्बर सिंह आ गया.'
'निभाने से बनते हैं रिश्ते'
राहुल गांधी ने खुद को यूपी का गोद लिया हुआ बेटा बताने पर भी मोदी को आड़े हाथों लिया. उन्होंने कहा कि रिश्ते बोलने या जताने से नहीं बल्कि निभाने से बनते हैं. राहुल का आरोप था कि मोदी बिना सोचे-समझे काम करते हैं और उनके राज में आडवाणी और सुषमा स्वराज जैसे सीनियर नेताओं के पास कोई काम ही नहीं बचा है.
जीत को भरोसा
उन्होंने भरोसा जताया कि यूपी में कांग्रेस और समाजवादी पार्टी का गठबंधन सत्ता में आएगा. उनके मुताबिक यूपी में भाईचारे की सरकार होगी और राज्य को मोदी की जरुरत नहीं है. राहुल ने पार्टी कार्यकर्ताओं से समाजवादी पार्टी के वर्कर्स के साथ पूरा सहयोग करने की भी अपील की ताकि गठबंधन 25-300 सीटें जीत सके.

No comments:

Post a Comment