ताली बजाने के हैरतअंगेज फायदे आदत बनाने को कर देंगे मजबूर, जानिए कैसे - sach ki dunia, India's top news portal Get Latest News. Hindi Samachar

Breaking

ताली बजाने के हैरतअंगेज फायदे आदत बनाने को कर देंगे मजबूर, जानिए कैसे



सफलता पर ताली बजाना स्वागत करने का अच्छा तरीका है. खुशी जाहिर करने के लिए भी ताली बजाई जाती है, लेकिन क्या जानते हैं उसके फायदे भी हैं. ताली बजाने से शरीर के साथ मानसिक सेहत को भी फायदा पहुंचता है.

आपने पार्क में बुजुर्गों को पूरी शक्ति के साथ ताली बजाते देखा होगा. जाहिर है ये थोड़ा अजीब आपको लगता होगा. लेकिन आप जानकर हैरान रह जाएंगे कि ताली बजाने के कुछ प्रमुख फायदे हैं. ताली बजाने से न सिर्फ शरीरि को फायदा पहुंचता है बल्कि आपके मानसिक स्वास्थ्य को भी मजबूती मिलती है.


कई फायदे हासिल करने के लिए ताली बजाने का काम सुबह में किया जा सकता है. ताली बजाना शक्तिशाली मानसिक और शारीरिक उत्तेजक है क्योंकि ये आपकी ऊर्जा चक्र को सक्रिय करता है और शरीर में ब्लड सर्कुलेशन को सुधारता है. उसके अलावा, ये आपके शरीर को भी शामिल करता है. व्यायाम की शक्ल के तौर पर शरीर और दिमाग के लिए ताली बजाने के अनगिनत फायदों को जानिए.


ताली बजाने से हासिल होनेवाले फायदे


मानसिक और शारीरिक उत्तेजना में मददगार- सेहत के लिए शरीर और दिमाग का मजबूत होना जरूरी है, और ताली बजाना दिमाग और शरीर को मजबूत करने का बहुत मुफीद और प्रभावी तरीका हो सकता है. जब आप शारीरिक और मानसिक पहलू को सुबह में ताली बजाकर उत्तेजित करते हैं, तो ये आपको दिन भर सकारात्मक और उत्साहित मूड में रखता है. एक विज्ञान की पत्रिका से भी ताली बजाने के मानसिक फायदों की पुष्टि होती है. उसमें सुझाया गया है कि बीमारियों जैसे गर्दन, कमर दर्द, किडनी और लंग्स की समस्याओं से भी ताली बजाकर राहत मिल सकती है.


ताली बजाने से ब्लड सर्कुलेशन में होता सुधार- आप ताली बजाने का अभ्यास बैठने की स्थिति जैसे सुखासन और वज्रासन में भी कर सकते हैं. इस गतिविधि को सुबह में अंजाम देने की सलाह दी जाती है. ज्यादा वजन या क्रोनिक बीमारियों से पीड़ित लोग भी ऐसा कर सकते हैं क्योंकि हो सकता है ऐसे लोग खुद को शारीरिक व्यायाम की दूसरी शक्ल में शामिल होने के लिए सक्षम नहीं पाते हों. इसलिए मात्र ताली बजाकर आप ब्लड सर्कुलेशन को सुधार सकते हैं और इस तरह हाइपरटेंशन या हाइपोटेंशन जैसे मुद्दों की रोकथाम में सक्षम हो सकते हैं.


ताली करती है सकारात्मकता का संचार- बहुत सारी सभ्यताओं में ताली बजाने को जश्न, प्रशंसा, प्रोत्साहन और मान्यता की निशानी समझा जाता है. पूजा के दौरान भी कुछ खास लोग प्रभु के भजन गीत पर ताली बजाने का अभ्यास करते हैं. मामला चाहे धार्मिक हो, स्पोर्ट खेलने का हो या प्रदर्शन देखने का, ताली बजाने को सकारात्मक रिस्पॉन्स देने के लिए इस्तेमाल किया जाता है.


ये आपके तमाम शरीर को शामिल करता है- अगर आप ताली बजाने के काम को देखें तो पता चलता है कि उसमें सिर्फ हाथ शामिल नहीं है. पूरे शरीर की ऊर्जा ताली बजाने की प्रक्रिया के दौरान फैल जाती है और ये खुद ब खुद मूड को सुधारता है और किसी की ऊर्जा को बढ़ाता है.

No comments:

Post a Comment