इमरान खान से मिलेगा सिख प्रतिनिधिमंडल, अगवा युवती को रिहा करने की करेगा मांग - sach ki dunia

Breaking

Monday, September 2, 2019

इमरान खान से मिलेगा सिख प्रतिनिधिमंडल, अगवा युवती को रिहा करने की करेगा मांग


पाकिस्तान में सिख लड़की को अगवा कर उसे जबरन मुस्लिम बनाने के मामले में आज सिख समुदाय का प्रतिनिधिमंडल पाक पीएम इमरान खान से मुलाकात करेगा. पाकिस्तान की सत्ताधारी पार्टी पाकिस्तान तहरीके इंसाफ के नेता सरदार महिंदर पाल सिंह के नेतृत्व में 10 सिखों का प्रतिनिधिमंडल सोमवार दोपहर 1 बजे पीएम इमरान खान से मुलाकात करेगा. यह प्रतिनिधिमंडल पाकिस्तानी प्रधानमंत्री से सिख युवती को सुरक्षित वापस उसके घर लाने का आग्रह करेगा. इस प्रतिनिधिमंडल में पाकिस्तान सिख गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी (PSGPC) के अध्यक्ष सरदार सतवंत सिंह के अलावा कई पदाधिकारी व सदस्य शामिल हैं.
बता दें कि 29 अगस्त की खबर के मुताबिक पाकिस्तान में हिंदू लड़कियों के जबरन धर्मांतरण की खबरों के बाद अब सिख लड़की को जबरन इस्लाम कबूल करवाने का मामला सामने आया था. इसके अनुसार कुछ लोगों ने सिख युवती को बंदूक के दम पर अगवा करके उससे इस्लाम कबूल करवाया और इसका पूरा वीडियो भी बनाया. पाकिस्तान के नानकाना साहिब में गुरुद्वारा तंबी साहिब के एक ग्रन्थि की एक बेटी पिछले 3 दिनों से लापता थी, गुरुवार को एक मुस्लिम व्यक्ति से शादी करने और उसे जबरन इस्लाम धर्म कुबूल करवाने की बात सामने आई.
वहीं 31 अगस्त को पाकिस्तानी पुलिस ने दावा किया था कि युवती को सुरक्षित घर पहुंचा दिया गया है जबकि ऐसा नहीं हुआ था. पाकिस्‍तान की ओर से पहले कहा गया था कि मामले में 8 लोगों की गिरफ्तारी हुई है. साथ ही लड़की को ननकाना साहिब स्थित उसके घर भेज दिया गया है. लेकिन सिख लड़की के भाई ने बताया कि कि ना तो उसकी बहन घर लौटी है और ना ही इस मामले में कोई गिरफ्तारी हुई है. उसका कहना था कि यह दोनों ही बातें झूठी हैं. भाई ने बताया कि उसकी बहन कहां है और किस स्थिति में है, उसे यह भी नहीं पता. उसने पीएम इमरान खान और अन्‍य लोगों से इस मामले में ध्‍यान देने और उसे न्‍याय दिलाने की अपील की.
बता दें कि इससे पहले 31 अगस्त सुबह पाकिस्‍तान की ओर से खबरें आई थीं कि मामले में 8 लोग गिरफ्तार किए गए हैं. सिख लड़की को भी उसके घर पहुंचा दिया गया है. सूत्रों के अनुसार कहा जा रहा है कि सिख लड़की को अगवा करने वाला आरोपी पाकिस्‍तानी आतंकी है. वह हाफिज सईद के आतंकी संगठन जमात-उद-दावा का सदस्‍य है. इस आतंकी का नाम मोहम्‍मद हसन बताया जा रहा है. बता दें कि इस घटना के बाद से ही पाकिस्‍तान को सिख समुदाय समेत भारत का गुस्‍सा झेलना पड़ रहा है.
पाकिस्तान के पंजाब के गवर्नर ने लाहौर में पीड़िता के परिवारों वालों से मुलाकात की थी. पाकिस्तान में सिख समुदाय की लड़की को अगवा किए जाने को लेकर इमरान सरकार पर अल्पसंख्यकों का गुस्सा भड़क गया है. पाकिस्तान सिख काउंसिल के सदस्यों का कहना है कि पाकिस्तान में कोई सुरक्षित नहीं है. सिख लड़की पर हुए अत्याचार के खिलाफ भारत में भी आवाज तेज हो गई है. देश के अलग-अलग जगहों पर पाकिस्तान के खिलाफ प्रदर्शन हो रहे हैं.
 

No comments:

Post a Comment