जबलपुर: कलेक्टर के प्रयास सफल दस्तक अभियान के क्रियान्वयन में जबलपुर जिला प्रदेश में दूसरे स्थान पर - sach ki dunia

Breaking

Thursday, July 25, 2019

जबलपुर: कलेक्टर के प्रयास सफल दस्तक अभियान के क्रियान्वयन में जबलपुर जिला प्रदेश में दूसरे स्थान पर

दस्तक अभियान के क्रियान्वयन में प्रदेश स्तर की ओव्हर ऑल रैंकिंग मेंजबलपुर जिले को प्रदेश में दूसरा स्थान प्राप्त हुआ है । कलेक्टर  भरत यादव नेजिले की इस उपलब्धि के लिए स्वास्थ्य तथा महिला एवं बाल विकास विभाग केअमले की सराहना करते हुए शाबासी और बधाई दी है ।
आज बुधवार को स्वास्थ्य तथा महिला एवं बाल विकास विभाग कीगतिविधियों की समीक्षा के लिये आयोजित बैठक में भरत यादव यादव ने दस्तक अभियान मेंजिले को मिली इस उपलब्धि का श्रेय दोनों विभाग के मैदानी अमले को दिया । उन्होंनेकहा कि शहरी और ग्रामीण क्षेत्र में घर-घर दस्तक देकर गम्भीर बीमारियों, विकृतियों,कुपोषण एवं एनीमिया से पीड़ित बच्चों को चिन्हित करने तथा उनके उपचार के प्रबंध करने के सौंपे गए दायित्व का जिस गम्भीरता और सजगता से निर्वाह इन विभागों केमैदानी अमले ने किया हैं, वास्तव में इसके लिये वे सम्मान के हकदार हैं ।
भरत यादव यादव ने अभियान के तहत पोषण पुनर्वास केन्द्रों में भर्ती किये गए बच्चों कानिरंतर फॉलोअप लेने के निर्देश भी बैठक में दिए । उन्होंने दस्तक अभियान के 31जुलाई तक चलने वाले मॉपअप राउंड में डायरिया से पीड़ित होने वाले बच्चों केचिन्हांकन पर विशेष ध्यान देने के निर्देश दिए ।
कलेक्टर कार्यालय के सभाकक्ष में आयोजित इस बैठक में अपर कलेक्टर डॉ सलोनीसिडाना भी मौजूद थीं । बैठक में दस्तक अभियान की गतिविधियों के अलावा स्वास्थ्य विभाग तथा महिला एवं बाल विकास विभाग के कार्यों की समीक्षा भी की गई ।
कलेक्टर भरत यादव ने स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों को संस्थागत प्रसव को प्रोत्साहित करने के निर्देश दिये । उन्होंने जल जनित रोगों की रोकथाम के उपायों के प्रति आम लोगों को जागरूक करने की आवश्यकता भी बताई । भरत यादव ने स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों से कहा कि उन्हें संक्रामक रोगों से पीड़ित व्यक्तियों के उपचार के साथ-साथ बीमारी की वजह जानने के प्रयास करने होंगे ताकि संबंधित क्षेत्र में बीमारी को जड़ से समाप्त करने जरूरी कदम उठाये जा सकें ।
कलेक्टर ने बैठक में शहरी और ग्रामीण क्षेत्र में स्थित सभी शासकीय अस्पतालों एवं स्वास्थ्य केन्द्रों में एंटी रेबीज तथा एंटी स्नेक वेनम की पर्याप्त उपलब्धता सुनिश्चित करने के निर्देश भी बैठक में दिये । उन्होंने स्कूली बच्चों के नेत्र परीक्षण के लिए कैलेण्डर तैयार करने तथा इस कार्य में रेडक्रॉस सोसायटी तथा सामाजिक संस्थाओं का सहयोग लेने की बात कही । उन्होंने 8 अगस्त को कृमि नाशक दिवस पर स्कूलों एवं आंगनबाड़ी के प्रत्येक बच्चे को कृमि नाशक दवा खिलाने के निर्देश दिये । भरत यादव ने कहा कि जो बच्चे इस दिन दवा खाने छूट जाते हैं उन्हें 16 अगस्त को मॉपअप राउण्ड में अनिवार्य रूप से कृमि नाशक दवा खिलाई जानी चाहिए ।
भरत यादव ने बैठक में महिला एवं बाल विकास विभाग के प्रत्येक सेक्टर पर एक-एक आंगनबाड़ी केन्द्र को आदर्श आंगनबाड़ी केन्द्र का स्वरूप देने की दिशा में अभी तक की गई कार्यवाही की समीक्षा भी की । उन्होंने आदर्श आंगनबाड़ी केन्द्रों में क्या-क्या सुविधायें होनी चाहिए इस बारे में सुविचारित रणनीति बनाई जाये । भरत यादव ने प्रधानमंत्री मातृ वंदन योजना के प्रकरणों के हितग्राहियों को द्वितीय एवं तृतीय किश्त का शीघ्र भुगतान करने के निर्देश भी बैठक में दिये ।
बैठक में जिले के मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ. मुरली अग्रवाल तथा जिला कार्यक्रम अधिकारी महिला एवं बाल विकास एम.एल. मेहरा भी उपस्थित थे ।

No comments:

Post a Comment