बेकाबू कोरोना : पाबंदियो के आसार ,10 प्रतिशत ऊपर पहुंची संक्रमण दर - sach ki dunia, India's top news portal Get Latest News. Hindi Samachar

Breaking

बेकाबू कोरोना : पाबंदियो के आसार ,10 प्रतिशत ऊपर पहुंची संक्रमण दर

केंद्रीय स्वास्थ्य सचिव राजेश भूषण ने सभी राज्यों व केंद्र शासित प्रदेश के मुख्य सचिवों को पत्र लिखकर कहा है कि 10 राज्यों के 27 जिलों की गहन निगरानी की आवश्यकता है। अगर जरूरत पड़ती है तो पाबंदियां फिर से लागू की जाएं।

कोरोना संक्रमण एक बार फिर से बेकाबू हो रहा है। आलम यह है कि 10 राज्यों के 27 दिलों में पिछले दो सप्ताह में संक्रमण दर में एकाएक उछाल आया है। कई जिले तो ऐसे हैं जहां पर संक्रमण दर 10 प्रतिशत के भी ऊपर पहुंच गई है, वहीं अन्य जिलों में यह पांच से दस प्रतिशत के बीच है। ऐसे में केंद्र ने सभी राज्यों को चिट्ठी लिखकर चेतावनी जारी की है, साथ ही अधिक संक्रमण दर वाले 27 जिलों पर नजर बनाए रखने को कहा है। राज्यों को यह पत्र केंद्रीय स्वास्थ्य सचिव राजेश भूषण की ओर से लिखा गया है। इस पत्र में केंद्र की ओर से कई दिशा निर्देश दिए गए हैं।

हर आवश्यक कदम उठाने पर जोर

पत्र में कहा गया है कि जिन जिलों में संक्रमण दर बेकाबू हो रही है, उन इलाकों को चयनित कर वहां पर कोरोना से बचाव के लिए कड़े कदम उठाने की आवश्कता है। जरूरत पड़ने पर रात्रि कर्फ्यू, लोगों के इकट्ठा होने पर रोक, शादी या अन्य समारोह में भीड़ पर पाबंदी लगाने को भी कहा गया है।

केंद्र की रिर्पोट के मुताबिक, तीन राज्यों मिजोरम, केरल और सिक्कम के के आठ जिलों में संक्रमण दर 10 प्रतिशत से ऊपर पहुंच गई है। वहीं सात राज्यों के 19 जिलों में यह पांच से दस प्रतिशत के बीच है।

कहां कितनी संक्रमण दर

स्वास्थ्य मंत्रालय की रिपोर्ट के मुताबिक मिजोरम के हन्नाथियाल और सेरछिप जिले में संक्रमण दर क्रमश: 22.37 और 19.29 फीसदी है। इसके अलावा यहां के तीन अन्य जिलों में भी 10 प्रतिशत के ऊपर संक्रमण दर पहुंच गई। इसके अलावा केरल के दो तो सिक्कम के एक जिले में 10 प्रतिशत के ऊपर कोरोना संक्रमण दर है।

राज्यों को दिए यह निर्देश

- आरटी पीसीआर जांच बढ़ाने पर ध्यान दें

- विदेश से आने वालों की निगरानी में कोई लापरवाही न बरतें

- संक्रमित मरीजों व उनके संपर्क में आने वालों की जांच व निगरानी की जाए

- कोविड सतर्कता नियमों का सख्ती से पालन कराने के निर्देश जारी करें सभी राज्य

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें