गणेश विसर्जन 2022: कब है अनंत चतुर्दशी? इस दिन किया जाता है गणपति विसर्जन, जानें तिथि और शुभ मुहूर्त - sach ki dunia, India's top news portal Get Latest News. Hindi Samachar

Breaking

गणेश विसर्जन 2022: कब है अनंत चतुर्दशी? इस दिन किया जाता है गणपति विसर्जन, जानें तिथि और शुभ मुहूर्त

 


हिंदू धर्म में गणेश चतुर्थी के दिन भगवान गणेश जी स्थापना की जाती है और 10 दिनों तक विधि-विधान से उनका पूजन किया जाता है. लोग डेढ़ दिन, 3, 5, 7 या 10 दिन के लिए घरों में गणपति की स्थापना करते हैं और इसके बाद विधि-विधान के साथ उन्हें विदा किया जाता है. (Kab hai ganesh visarjan 2022) गणपति की इस विदाई को गणेश विसर्जन कहा जाता है. जो कि अनंद चतुदर्शी (anant chaturdashi 2022) के दिन होता है. आइए जानते हैं कब है अनंत चतुर्दशी और विसर्जन का शुभ मुहूर्त.

कब है अनंत चतुर्दशी?

हिंदू पंचांग के अनुसार भाद्रपद माह के शुक्ल पक्ष में 14वें दिन को चतुर्दशी यानि अनंत चतुर्दशी कहा जाता है. इसी दिन गणेश विसर्जन भी होता है. इस साल चतुर्दशी तिथि 8 सितंबर 2022 को शाम 4 बजकर 30 मिनट पर शुरू होगी और 9 सितंबर 2022 को दोपहर 1 बजकर 30 मिनट पर समाप्त होगी. उदयातिथि के अनुसार अनंत चतुर्दशी की पूजा का शुभ मुहूर्त 9 सितंबर सुबह 6 बजकर 30 मिनट से लेकर 1 बजकर 30 मिनट तक रहेगा.

अनंत चतुर्दशी का महत्व

हिंदू धर्म में अनतं चतुर्दशी का विशेष महत्व है और इसे अनंत चैदस के नाम से भी जाना जाता है. इस दिन भगवान गणेश जी विसर्जन के साथ ही भगवान विष्णु का भी पूजन किया जाता है. उनकी भुजा में रेशम या सूती धागा बांधा जाता है और इसमें 14 गांठे लगाई जाती है. यह एकता व भाईचारे का प्रतीक भी है. 

गणपति विसर्जन के नियम

अनंत चतुर्दशी के दिन गणेश विसर्जन किया जाता है और साथ ही यह भी कहा जाता है कि भगवान आप अगले साल फिर से आना और अपनी कृपा बरसाना. इसके बाद उन्हें विसर्जित कर दिया जाता है. विसर्जन से पहले उनका विधि-विधान से पूजन किया जाता है और धूप-दीप प्रजव्वलित करते हैं. विसर्जन से पहले गणेश जी के समक्ष हाथ जोड़कर अपनी गलतियां के क्षमा याचना अवश्य करें.

अगर आप है खाने खिलाने के शौक़ीन तो पढ़ें 


स्पंज रसगुल्ले

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें