गूगल के सीईओ सुंदर पिचाई ने कहा-13 सीनियर अफसरों समेत 48 कर्मियों को निकाला

22

यौन उत्पीड़न के आरोप में गूगल के सीईओ सुंदर पिचाई ने कहा, ‘‘हमने दो 2 साल के अंदर 48 कर्मचारियों को नौकरी से निकाल दिया। इनमें से 13 कंपनी के सीनियर अफसर थे। इनमें से किसी को एक्जिट पैकेज नहीं दिया गया। अमेरिकी अखबार न्यूयॉर्क टाइम्स (एनवाईटी) का दावा है कि 2013 में ‘फादर ऑफ एंड्रॉइड’ एंडी रूबीन पर यौन उत्पीड़न का आरोप लगा था। इसके बावजूद गूगल ने एंडी को बचाया और एग्जिट प्लान के तहत 9 करोड़ डॉलर (660 करोड़ रुपए) भी दिए। एनवाईटी ने कोर्ट में दर्ज शिकायत और इंटरव्यू के आधार पर बताया कि एंडी रूबीन उन तीन वरिष्ठ अधिकारियों में शामिल हैं, जिन पर पिछले दशक में यौन दुर्व्यवहार के आरोप लगे।

एनवाईटी की रिपोर्ट में एंडी रूबीन या किसी अन्य अधिकारी का नाम स्पष्ट रूप से नहीं दिया गया है।’’ पिचाई ने अपने कर्मचारियों को भेजे ईमेल में लिखा, ‘‘पिछले कुछ सालों में हमने कई बदलाव किए हैं। इसमें गलत व्यवहार करने वालों के लिए सख्ती से पेश आना भी शामिल है। हम सुरक्षित वर्कप्लेस उपलब्ध कराने के लिए पूरी तरह प्रतिबद्ध हैं।

हम आश्वस्त करना चाहते हैं कि यौन उत्पीड़न और अनुचित व्यवहार की हर एक शिकायत का रिव्यू किया जाता है। हम हर मामले की जांच करने के बाद ही कार्रवाई करते हैं।’’ रूबीन के प्रवक्ता सैम सिंगर ने एनवाईटी के दावे को खारिज करते हुए कहा, ‘‘तकनीक विशेषज्ञ एंडी रूबीन ने अपनी मर्जी से गूगल को छोड़ा है। वे अब नई कंपनी शुरू करना चाहते हैं। एनवाईटी की रिपोर्ट में कई खामियां हैं। रूबीन का कहना है कि उन्होंने होटल के कमरे में किसी भी महिला को यौन संबंध बनाने के लिए मजबूर नहीं किया। ये झूठे आरोप रूबीन की पूर्व पत्नी ने तलाक के केस के दौरान उन्हें बदनाम करने के लिए लगाए

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here