दुनिया भर से खत्म हो चुका पोलियो का खतरनाक टाइप 2 विषाणु अब उत्तर प्रदेश की बनी दवा में मिला, जांच शुरू

31

नई दिल्ली: एक तरफ दुनिया मिशन पोलियो के खतरनाक टाइप 2 विषाणु के समाप्त हो जाने पर निश्चित हो गई तो वहीँ  दूसरी तरफ इस खतरनाक विषाणु के भारत में होने का पता चलने से हड़कंप मच गया है। यूपी के गाजियाबाद में एक कंपनी द्वारा बनाई गई पोलियो की पिलाई जाने वाली दवा में टाइप 2 विषाणु मिले है।

स्वास्थ्य मंत्रालय ने दिए जांच के आदेश
स्वास्थ्य मंत्रालय ने दवाई की कुछ खेप में पोलियो टाइप 2 विषाणु के अंश मिलने के बाद जांच के आदेश दिये हैं। वहीं कंपनी के प्रबंध निदेशक को शनिवार को गिरफ्तार कर लिया गया है। सिर्फ सरकार संचालित टीकाकरण कार्यक्रम के लिए पोलियो की दवाई की आपूर्ति करने वाली बायोमेड प्राइवेट लिमिटेड के प्रबंध निदेशक को गिरफ्तार कर लिया गया। केंद्रीय दवा नियामक ने इस मामले में एक प्राथमिकी दर्ज की है। ड्रग कंट्रोलर जनरल ऑफ इंडिया ने कंपनी से अगले आदेश तक दवा का उत्पादन, बिक्री और विपणन रोकने को कहा है।

मल के नमूनों में विषाणु के मिले संकेत
स्वास्थ्य मंत्रालय के एक सूत्र के अनुसार यह तब प्रकाश में आया जब उत्तर प्रदेश से निगरानी रिपोर्टों में कुछ बच्चों के मल के नमूनों में विषाणु के संकेत मिले। इसके तत्काल बाद दवा को जांच के लिए भेजा गया जिसमें इस बात की पुष्टि हुई कि इनमें से कुछ टाइप 2 विषाणु से दूषित हैं।

यूपी और महाराष्ट्र सरकार को किया गया अलर्ट
इस विषाणु के मिलने के संकेत के बाद इससे प्रभावित क्षेत्रों को तत्काल प्रभाव से सचेत कर दिया गया है।मुख्य रूप से स्वास्थ्य मंत्रालय ने उत्तर प्रदेश सरकार और महाराष्ट्र सरकार को भी अलर्ट किया कि कहीं वहां पर भी इस पोलियो दवा का इस्तेमाल न हो।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here