बर्लिन। यहां पर एक 10 साल के अफगान बच्चे ने एक सीरियन और दुसरे बच्चों के साथ मिलकर अपनी ही क्लासमेट का रेप कर दिया। जिसके बाद जर्मन प्रशासन ने उसके खिलाफ बिना कोई केस चलाए उसे छोड़ दिया।जर्मन प्रशासन का कहना है कि अपराध जघन्य होते हुए भी बच्चे की उम्र बहुत कम है और इस पर यह केस नहीं चलाया जा सकता है।यह घटना उस समय हुई जब बच्चों को स्कूल द्वारा एक ट्रिप पर ले जाया गया था। इस दौरान अफगान बच्चे ने एक सीरियन और दूसरे बच्चे के साथ अपनी ही क्लासमेट के साथ जबरदस्ती की।

इस घटना के बाद से जर्मनी के लोगों में काफी अक्रोश है और वे शरणार्थियों के खिलाफ जमकर विरोध कर रहे हैं। जरमन पुलिस के मुताबिक इस घटना को होते हुए दो और बच्चों ने देखा , लेकिन उम्र कम होने की वजह से वे कुछ समझ नहीं पाए इस कारण से उन्होंने शिक्षकों को इस बात की जानकारी नहीं दी।वहीं जर्मन प्रशासन द्वारा केस को रद्द कर दिया गया है। बता दें कि जर्मनी में अपराध के लिए ट्रायल चलाने के लिए कम से कम 14 साल की उम्र होना आवशयक है। हालांकि, कोर्ट ने अफगान बच्चे की मनोस्थिति को देखते हुए उसके सामान्य स्कूल जाने पर रोक लगा दिया है। जर्मन प्रशासन द्वारा अरोपी बच्चों को विशेष संरक्षण में रखे जाने का आदेश दिया गया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here