इमरान सरकार की मुसीबत बढी, ईएसी से दूसरे अर्थशास्त्री ने भी साथ छोडा

10

इस्लामाबाद। प्रधानमंत्री इमरान खान की आर्थिक सलाहकार परिषद (ईएसी) से शनिवार को एक दूसरे अर्थशास्त्री ने इस्तीफा दे दिया। परिषद से प्रसिद्ध शिक्षाविद् डॉ. आतिफ मियां को उनके अहमदी मजहब के लिए निकाले जाने के विरोध में अर्थशास्त्री ने इस्तीफा दिया है। युनिवर्सिटी कॉलेज लंदन में अर्थशास्त्र के प्रो. डॉ. इमरान रसूल ने एक ट्वीट में कहा कि भारी दिल के साथ मैंने आज सुबह ईएसी से इस्तीफा दे दिया। उन्होंने कहा कि मैं कामना करता हूं कि सरकार और ईएसी अपने आगे के काम में सफल हों और निष्पक्ष, साक्ष्य आधारित सलाह देने के इच्छुक बने रहेंगे, ताकि देश के निर्माण में आर्थिक नीति को बेहतर बनाने में मदद हो सके।

पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ (पीटीआई) सरकार द्वारा शुक्रवार को डॉ. आतिफ मियां को परिषद से बाहर किए जाने के कुछ घंटों बाद ही हॉर्वर्ड केनेडी स्कूल में अंतर्राष्ट्रीय वित्त और विकास के प्रोफेसर डॉ. आसिम एजाज ख्वाजा ने ईएसी के सदस्य के रूप में इस्तीफा दे दिया था, जिसके एक दिन बाद रसूल ने इस्तीफा दे दिया है। प्रिंसटन विश्वविद्यालय और वूडरो विल्सन स्कूल ऑफ पब्लिक पॉलिसी के प्रोफेसर डॉ. आतिफ मियां को पिछले सप्ताह परिषद में नियुक्त किया गया था। मियां ने कहा कि वह इस्तीफा इसलिए दे रहे हैं, क्योंकि सरकार को उनकी नियुक्ति को लेकर धार्मिक-राजनीतिक दलों से दबाव का सामना करना पड़ रहा है।

सूचना मंत्री फवाद चौधरी ने डॉ. आतिफ मियां के निष्कासन को लेकर ट्विटर पर कहा कि सरकार विद्वानों और सभी सामाजिक समूहों के साथ आगे बढऩा चाहती है और अगर किसी एक की नियुक्ति से इसपर विपरीत प्रभाव पड़ता है तो यह अनुचित है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here