अमेरिका के आयात कर से चीन के व्यापार में नहीं पडा फर्क

19

पेइचिंग। अमेरिका और चीन के बीच चल रहा व्यापारिक युद्ध होने से पांच महीने में अमेरिका का व्यापारिक घाटा सबसे ऊंचे स्तर पर पहुंच गया है। अमेरिका के मुकाबले चीन का निर्यात जुलाई में बीते साल की तुलना में 12.2 प्रतिशत व्यापार बढा है । यह स्थिति तो अमेरिका की ओर से टैरिफ लगाए जाने के बाद की है। चीन के सरकारी अखबार ने यह जानकारी दी है।

अखबार ने लिखा है कि अमेरिका के साथ व्यापारिक युद्ध शुरू होने के बाद भी चीन की अर्थव्यवस्था और मजबूत बनकर उभरी है। इसका कारण चीन की औद्योगिक प्रतियोगिता है। अखबार ने बताया कि अमेरिका के उपभोक्ता शॉर्ट टर्म में चीन के उत्पादों का विकल्प नहीं पा सकते। इसका मुख्य कारण यह है कि अमेरिका के टैरिफ बढ़ाने का असर चीन के कारोबार पर नहीं दिख रहा है। उल्लेख है कि अमेरिकी राष्ट्रपति डॉनल्ड ट्रंप ने कहा कि वह चीन के खिलाफ बहुत सख्त हैं क्योंकि जरूरी है।

अमेरिकी राष्ट्रपति ने बताया कि जिस 200 अरब डॉलर की बात हो रही है, वे जल्द ही लागू हो जाएगी। यह इस बात पर निर्भर होगा कि उनके साथ क्या होता है। यह माना जाए कि इसके सम्बंधित चीन क्या कार्रवाई करता है। ट्रंप ने बताया कि और यह कहना मुझे पसंद तो नहीं है लेकिन अगर मैं चाहूं तो इसके अतिरिक्त 267 अरब डॉलर के सामानों पर भी जल्द शुल्क लग जाएगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here